Regular और Open University में क्या अंतर हैं ?

बेहतर शिक्षा सभी के लिए जीवन में आगे बढ़ने और सफलता प्राप्त करने करने के लिए बहोत आवश्यक हैं, यह हमें आत्मविश्वास विकसित करने में सहायता करता हैं , उचित शिक्षा भविष्य में आगे बढ़ने के लिए बहुत से से रास्तो का निर्माण करती हैं। शिक्षा हम सभी के उज्जवल भविष्य के लिए एक बहोत ही आवश्यक साधन है हम अपने जीवन में इस साधन का उपयोग कर के कुछ भी अच्छा प्राप्त कर सकते हैं केवल स्कूली शिक्षा ही काफी नहीं हैं, उच्च शिक्षा का महत्व नौकरी और अच्छा पद प्राप्त करने के लिए बहोत ज्यादा बढ़ गया हैं।
आज कल के समय में शिक्षा के स्तर को बढ़ाने के लिए बहुत सारे तरीके अपनाये जाते हैं, वर्तमान में शिक्षा का पूरा तंत्र बदल चूका हैं, पूरा सिस्टम change हो चूका हैं।
अब हम 12वीं कक्षा के बाद Distance Education के माध्यम से भी नौकरी के साथ पढाई भी कर सकते हैं।
और ये सुविधा हमें Open University के द्वारा प्राप्त कराई जाती हैं।
आज के इस Blog में हम जानेंगे की Open University क्या होता हैं ? और Open University और Regular University में क्या अंतर होता हैं ?
तो सबसे पहले हम जानेंगे की Regular University क्या होता हैं ?

Regular University क्या होता हैं ?

पूरी दुनिया में शिक्षा प्राप्त करने के दो रास्ते हैं, जिनमे पहला हैं Regular University, जिसके जरिये किसी भी Student को शिक्षा दी जाती हैं और दूसरा हैं Open University के माध्यम से शिक्षा दी जाती हैं रेगुलर यूनिवर्सिटी में पारम्परिक तरीकों से शिक्षा प्रदान कराई जाती हैं, और पुरे भारत में ऐसे बहुत से स्कूल-कॉलेज और इंस्टिट्यूट हैं, जो छात्रों को नियमित रूप से शिक्षा उपलब्ध करवाते हैं, Regular Education में विद्यार्थियों को प्रतिदिन होने वाली क्लासेज में उपस्थित होना परता हैं, जाना परता हैं स्कूल,कॉलेज और इंस्टिट्यूट में छात्रों के लिए एक रजिस्टर बनायीं गयी होती हैं, जिसमे उनका प्रतिदिन अटेंडेंस लिया जाता हैं।
बच्चे हर वक़्त Professor’s और lacturer’s की कड़ी निगरानी में रहते हैं। बच्चो को स्कूल के असाइनमेंट और प्रोजेक्ट्स दिए जाते हैं जो उन्हें किसी भी तरीके से पुरे करने होते हैं। प्रोजेक्ट्स में कुछ गलती होती हैं तो टीचर उन्हें सही करवाते हैं, समझाते हैं और उस सब्जेक्ट जुड़ी जितनी भी प्रोब्लेम्स होती हैं वो छात्रों को सब क्लियर तरीकों से समझाकर exam के लिए तैयार करवाते हैं तो इस तरीके से शिक्षा संस्थानों में समय-समय पर परीक्षाएं करवाई जाती हैं, Regular एजुकेशन के जरिये विद्यार्थिओं को अपने सब्जेक्ट से जुड़ी चीजों को जानने और सिखने का बेहतर मौका मिलता हैं

Open University क्या होता हैं ?

Open University ऐसे विश्वविद्यालय होते हैं,ऐसे यूनिवर्सिटीज होते हैं जो दूरस्थ शिक्षा के उद्देश्य से स्थापित किये गए हैं, दूरस्थ शिक्षा को हम इंग्लिश में Distance Education कहते हैं जिसमें विद्यालय से दूर रहकर शिक्षा को प्राप्त किया जाता हैं।

इसमें बड़ी संख्या के वर्ग को शिक्षा प्रदान करने और देश में शिक्षा के प्रसार का महत्वपूर्ण कार्य निभाया जा रहा हैं, जो व्यक्ति किसी कारण वश शिक्षा प्राप्त करने में असमर्थ होते हैं , उन्ही लोगों को ये विश्वविद्यालय शिक्षा प्रदान कराता हैं इस यूनिवर्सिटी के माध्यम विद्यार्थियों को नियमित तौर पर किसी संसथान में में जाकर के पढाई करने की जरुरत नहीं होती।
इन सभी स्थानों में Modern Communication Technology जैसे की Internet, Video Confrencing, video या audio tapes, CD या DVD जैसी चीजों के माध्यम से शिक्षा प्रदान की जाती हैं विद्यार्थियों को Self-Learning Material दिया जाता हैं, जिसमें सहायता के लिए हर Centre पर Contact Classes होती हैं, इसमें विद्यार्थी की संख्या की कोई सीमा नहीं होती हैं जैसे रेगुलर एजुकेशन में होती हैं साथ में पढाई करने की fees भी रेगुलर एजुकेशन के मुकाबले काफी कम होती हैं।

Distance Education में किसी भी व्यक्ति को काम करने के साथ-साथ उन्हें पढाई करने का अवसर भी मिलता हैं। अगर किसी छात्र के किसी कारण से 10 वीं या 12 वीं की परीक्षा में काम नंबर आये हैं फिर भी उसे Open University में मनपसंद कोर्स में दाखिला मिल जाता हैं ओपन यूनिवर्सिटी के किसी भी कोर्स के लिए उम्र की कोई भी बाधा नहीं होती हैं, आजकल Open University के जरिये विद्यार्थी Graduate, Post Graduate, P.hD, Diploma आदि प्रकार के सभी कोर्स कर सकते हैं
भारत में सभी राज्य का लगभग एक अपना Open University हैं जो Distance Education की शिक्षा प्रदान करते हैं इसमें शिक्षक सामने नहीं होते हैं इसीलिए पाठय सामिग्री यानि Study Material ही शिक्षक का काम करता हैं साथ ही Regular Education की तरह प्रतिदिन क्लासेज नहीं करवाए जाते, बल्कि हफ्ते में दो बार Saturday और Sunday को ही Class रखे जाते हैं।
इस शिक्षा संसथान में समय-समय पर परीक्षाएं नहीं करवाई जाती हैं, केवल साल में एक या दो बार ही परीक्षाएं होती हैं
Distance Education के जरिये पढाई करने की खास बात ये हैं की इसमें पढाई करने वाले छात्र अपने समय के अनुसार पढाई कर सकते हैं क्यूंकि इसमें कोई टीचर या प्रोफेसर छात्र के लिए उपलब्ध नहीं रहते हैं अगर कोई छात्र को पढ़ते टाइम कोई दिक्कत आती हैं तो वो उस प्रॉब्लम का हल ढूंढने के लिए अपने सेण्टर के द्वारा सप्ताह के जाने वाले क्लासेज में उपस्थित हो सकता हैं।
ऑपन यूनिवर्सिटी से पढाई पूरी करने वाले छात्रों को वैसा ही Certificate दिया जाता हैं जैसा Regular University के जरिये अपनी पढाई पूरी करने वाले छात्रों को मिलता हैं।

Open University और Regular University के बिच में क्या अंतर हैं ,

देश के विश्वविद्यालयों में रेगुलर कोर्स में दाखिल के तामझाम और अड़चनों ने Open University से मिल रहे Distance Education के माध्यम को काफी लोकप्रिय बना दिया गया हैं, छात्रों की बड़ी तादात मजबूर या मनपसंद ढंग से पढ़ने के लिए इस माध्यम की और तेज़ी से कदम बढ़ा रहे हैं।

क्लास अटेंड करने और हर दिन की अटेंडेंस की झंझट से मुक्त हो करके पढ़ने की आजादी देने वाला ये माध्यम अब देश के कई विश्वविद्यालयों में प्रचलित हो रहा हैं, दोनों ही माध्यम से शिक्षा प्राप्त करने का मौका मिलता है

लेकिन फिर भी आजकल अधिकतर विद्यार्थी रेगुलर एजुकेशन करने से ज्यादा Distance Education करना पसंद कर रहे हैं, इसके बहोत से कारन हैं, जैसे की पहला हैं की Regular University में दाखिले के लिए कई Cut-off लिस्ट का इंतजार करना परता है कही प्रवेश परीक्षा की तयारी कर के अपनी जगह बनानी परती हैं।

इसके बाद अगर दाखिला मिल गया तो अपने घर से दूर दूसरे शहर में रह कर के क्लास में उपस्थित होने और Assignment पूरा करके समय-समय पर देने का झंझट भी सामने आता हैं जबकि Open University में दाखिला पाने के लिए इस तरह की कोई बाधा नहीं होती कोई भी व्यक्ति अपने मनपसंद subject को चुनकर अपनी पढाई पूरी कर सकते है और इसमें प्रतिदिन Class करने की आवश्यकता नहीं होती और स्टडी मटेरियल भी दाखिला लेने के
बाद प्रदान किया जाता हैं, तो यहाँ पर सीधे-सीधे वार्षिक परीक्षा में बैठना होता हैं।

इससे पहले हाजरी या क्लास करने जैसी अनिवार्यता का पालन नहीं करना परता हैं और आगे दूसरी बात ये हैं की Open University में दाखिला लेने के लिए आम तौर पर मार्क्स और मेरिट लिस्ट का बैरियर सामने नहीं आता यहाँ दाखिले के लिए प्रयाप्त समय भी छात्रों को मिलता हैं

ज्यादातर विश्वविद्यालयों में Distance Education के लिए दाखिले October और November तक चलते हैं b.ed जैसे कई प्रोफेसनल कोर्सेज में दाखिला प्रवेश परीक्षा के जरिये दिया जाता हैं दूसरे कोर्स के लिए सीधे यूनिवर्सिटी में दाखिला मिल जाता हैं
तीसरा कारन हैं की Regular और Open University दोनों में Courses एक जैसे ही होते हैं, दोनों माध्यम से पढ़ने वाले छात्र को डिग्री भी एक जैसे ही दी जाती हैं उसपर ये कही भी नहीं लिखा होता है की आपने अपनी पढाई Distance Education से की हैं या Regular Education से Certificate पर सिर्फ विश्वविद्यालय और Course का नाम लिखा होता हैं।

जिससे नौकरी के लिए आवेदन देने में कोई भी समस्या नहीं होती हैं लेकिन दोनों माध्यम से कोर्सेज को लेकर के एक बहुत बड़ा फर्क ये है की Distance Education में Regular Education के मुकाबले कम कोर्सेज की ही पढाई होती हैं, इनमे BA, B.Com, M.A. और P.hD की ही पढाई होती हैं, Science के कुछ कोर्स इनमे नहीं पढ़ाये जाते और इसके लिए छात्रों को Regular Education का ही दरवाजा खटखटाना परता हैं

लोगों को सामान्यतः ये शंका रहती हैं की Open University से की जाने वाली पढाई की Value Regular university की पढाई की तरह नहीं होती है तो ये धारणा बिलकुल गलत हैं।
भारत में 14 Open University और लगभग 75 % विश्यविद्यालयों ने National Institute of Open Schooling के Senior Secondary कोर्स यानि 10 वीं और 12वीं के पढाई के बाद की कोर्सेज को अपनी यहाँ पर प्रवेश के लिए मान्यता दे रखी हैं
भारत में इन राज्यों में Open University मौजूद हैं
इंदिरा गाँधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी (IGNOU)

Symbiosis Centre For Distance Learning Pune,

Institute of Distance Education, University of Madras,

Sikkim Manipal University Gangtok,

BRAOU – Dr. B.R. AMBEDKAR OPEN UNIVERSITY Hyderabad,

School of Open Learning University of Delhi,

KURUKSHETRA UNIVERSITY KURUKSHETRA,

Netaji Subhas Open University Kolkata,

Nalanda Open University Patna,

Karnataka State Open University
इसके अलावा और भी यूनिवर्सिटी भारत में मौजूद है जो डिस्टेंस एजुकेशन की सुविधा प्रदान करते हैं।
इसका लक्ष्य शहर में रह रहें युवा अपने घरों में रहकर के ही अपनी पढाई को पूरी कर सकते है और उच्च शिक्षा के लिए खुद को शिक्षित कर सकते हैं।

अंत में :-

तो आशा करते है की इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद Open University और Regular University के बिच का अंतर समझ में आ गया होगा
इससे जुड़ी सारी जानकारी मिल गयी होगी।

 

 

 

 

1 thought on “Regular और Open University में क्या अंतर हैं ?”

  1. Pretty! This has been a really wonderful post. Many thanks for supplying these details. Selie Ray Gothard

    Reply

Leave a Comment